जन्नत से कम नहीं – Jannat Se Kam Nhi

जन्नत से कम नहीं – Jannat Se Kam Nhi
जन्नत से कम नहीं – Jannat Se Kam Nhi
तुझे पाऊँ तो किसी मन्नत से कम नहीं
💗
तुझे महसूस करूँ वो जन्नत से कम नहीं..❤️

तुम अगर साथ रहो आकर
हमनशीं💏  की तरह…!!
ज़िन्दगी लगने लगे फिर
🌹 तो ज़िन्दगी की तरह…!!!!

इस क़दर शोख़ निगाहों से न देखो मुझ को
ग़ैरत-ए-हुस्न पे इल्ज़ाम न आ जाए कहीं

\

मोहब्बत के इक़रार से शर्म कब तक
कभी सामना हो तो मजबूर कर दूँ…


तुम्हें पाने की चाहत तो सब करते है मगर!
तुम तलाश उसकी करो जो तुम्हें खोने से डरे!!


Everyone wants to get you but!
You seek the one who is afraid of losing you!!


महक ढुंढते है तुम्हारी – Mahak Dhundhate Hai Tumhaaree

महक ढुंढते है तुम्हारी – Mahak Dhundhate Hai Tumhaaree

रात बाहों में भर कर सुबह
सुबह गुम हो जाते हो
आंख खुलते ही फिर तुम कितने याद आते हो
हम बिस्तर में पडी सिलवटों
से लिपट कर महक ढुंढते है तुम्हारी

morning in the arms of the night
get lost in the morning
when open eyes then how much do you remember|
we lay in bed folds Looking for the smell of you


ख्वाब तो वो है,
जिसका हकीकत मे भी दीदार हो,
कोई मिले तो इस कदर मिले,
जिसे मुझ से ही नही मेरी रूह से भी प्यार हो….❤️
हमारे अनकहे रिश्ते का मंज़र भी कमाल है…
ना कोई वादा ना कोई क़रार फिर भी दोस्ती, लाजवाब है…

सनम तेरी नफरत में वो दम नहीं
जो मेरी चाहत को मिटा दे
ये महोब्बत है कोई खेल नहीं
जो आज हंस के खेल और कल रो के भुला दिया

दिल दो किसी एक को वो भी किसी नेक को,
जब तक मिल ना जाए कोई ट्राई करते रहो हर एक को..!!

💕खयालों ने की है तेरी गुजारिश,
इक लम्हे के लिए खयाल बन जाओ,
हर खयाल पे हो बस तेरी ही दस्तक
बेखयाली में भी तुम्ही याद आओ …💕

बिन बुलाए आ जाता है, सवाल नहीं करता
💗
क्यु तेरा ख्याल, मेरा ख्याल नहीं करता..❤️

क्यूं करूँ ज़ुस्तज़ु तुम्हारी…
जब तुम इतने मगूरूर हो !
मैं भी बेमिसाल हूँ खुद में…
मुझे भी मेरी चाहतों का सुरूर हैं !!

Illiterate Mother – अनपढ़ माँ

Illiterate Mother – अनपढ़ माँ
एक मध्यम वर्गीय परिवार के एक लड़के ने 10वीं की परीक्षा मे 90% अंक प्राप्त किए।
पिता ने मार्कशीट देखकर खुशी-खुशी अपनी बीवी से कहा कि, बना लीजिये मीठा दलिया! स्कूल की परीक्षा मे आपके लाडले को 90% अंक मिले हैं।
माँ किचन से दौड़ती हुई आई और खुशी-खुशी बोली – मुझे भी दिखाइए! मुझे भी मेरे लाल का रिजल्ट देखना है जी।
इसी बीच लड़का फटाक से बोला – बाबा! उसे रिजल्ट कहाँ दिखा रहे है, क्या वह पढ़-लिख सकती है? वो तो अनपढ़ है।
अश्रुपूर्ण भरी आँखों को पल्लू से पोंछती हुई माँ दलिया बनाने चली गई।

(more…)


दिल की बात 2 – Jyoti Rakesh

  • मुस्कुरा कर मिला करो हमसे,
    कुछ कहा और सुना करो हमसे..

बात करने से बात बढ़ती है,
रोज़ बातें किया करो हमसे..


kya chahe rab se, tumhe pane ke baad,kisaka kare intizaar ,Tere aane ke baad, kyo mohbbat me jaan loota dete hai,Log, Maine bhi ye jana ishq karne ke baad.


karu tera jikar ya ehsaas me rahne du ,Karu tujhe mehsus ya dhadkano m rahne du, Tujhe lfjo m byan karu ,ya ibadat me rahne doo .


Raat gum sum hai magr chand khamosh nahi,

kaise kah de Aapko mujhe hosh nhi,

Aise dube hai Aapki ankho ki gahrayi me hum,

Hath me jam hai, Magr pine ka hosh nahi.


जैसी है तेरी ख्वाइश वैसे प्यार करेंगे,
हर धड़कन पर अपनी वफ़ा का इक़रार करेंगे,
जहाँ भी जाओगे हर कदम हममे ही पाओगे,
इश्क़ के हर मोड़ पर तेरा इंतज़ार करेंगे।


हाथ कि लकीरों पर ऐतबार कर लेना,
भरोसा हो तो किसी से प्यार कर लेना,
खोना पाना तो नसीबों का खेल है,
ख़ुशी मिलेगी बस थोड़ा इंतज़ार कर लेना।



अपने अंदर झांकें कौन ?

अपने अंदर झांकें कौन ?
झाँक रहे है इधर उधर सब अपने अंदर झांकें कौन ?
ढ़ूंढ़ रहे दुनियाँ में कमियां अपने मन में ताके कौन ?
दुनियाँ सुधरे सब चिल्लाते खुद को आज सुधारे कौन ?
पर उपदेश कुशल बहुतेरे खुद पर आज विचारे कौन ?
हम सुधरें तो जग सुधरेगा यह सीधी बात स्वीकारे कौन?
🙏🚩जय श्रीराम🚩🙏

वह मनहूस रात

खुशी से नम हो गई आंखें

बुरी करनी को मिला करारा जवाब,

खबर कुछ ऐसी आई आज सुबह

कि शिकारी खुद हो गए शिकार|

 

उस मनहूस रात के साए में

किया था जहां पाप तुमने,

देखो नियति के भी खेल निराले

उसी जगह देखा तुम्हारा अंत सबने|

 

लाओ कोई कानून ऐसा

करो कुछ ऐसा उपाय,

रूह कांप जाए उस दरिंदे की

जिसके मन में भी यह ख्याल आए|

 

कोशिश कर एक ऐसा समाज बनाएं

जिसमें कोई भी बेटी ना घबराए

दुआ है, जब भी सुबह अखबार खोलूं

कभी बलात्कार की खबर न आए

कभी बलात्कार की खबर न आए

 

~Copied


तब पता लगेगा कि क्या होती है तन्हाई

जुदा हो के देखो कि क्या होती है जुदाई,

प्यार करके देखो कि क्या होती है बेवफाई,

कभी अकेले होकर महसूस कीजिये ए चाँद,

तब पता लगेगा कि क्या होती है तन्हाई |


मेरे कदम बहक जाते हैं

जिस चमन से गुजर जाओ, हर कली पर निखार आ जाये,

तुम रूठों तो रूठ जाये खुदा, हंस दो तो बहार आ जाये |

 

तुम्हारी उड़ती हुई जुल्फों को देखकर दिल मचल जाता है,

जब तुम मेरे करीब होती हो तो कदम बहक जाता है |


Sad Shayari

वह दिन, दिन नहीं, वह रात, रात नहीं,

वह पल, पल नहीं, जिसमें आपकी याद नहीं,

हमें कोई आपसे जुदा कर सके,

मौत की भी इतनी औकात नहीं|

 

फूल सूख जाते हैं, एक वक्त के बाद,

लोग बदल जाते हैं, एक वक्त के बाद,

अपनी भी दोस्ती टूटेगी, एक वक्त के बाद,

पर वो वक्त होगा, मेरी मौत के बाद |

 

तुम्हारी जुल्फों के साये में ना जाने कब शाम हो गयी,

तुमसे जो जुदा हुए तो ये शाम वीरान हो गयी |

 

अपनी बेबसी पे हम ढेरों आँसूं बहाते हैं,

तेरे साथ गुजारे लम्हें जब याद आते हैं |

 

जब याद तुम्हारी आती है, तब दर्द जिगर में होता है,

जब सारी दुनिया सोती है, तब हर रोज रात को रोता हूँ |