अपने अंदर झांकें कौन ?

अपने अंदर झांकें कौन ?
झाँक रहे है इधर उधर सब अपने अंदर झांकें कौन ?
ढ़ूंढ़ रहे दुनियाँ में कमियां अपने मन में ताके कौन ?
दुनियाँ सुधरे सब चिल्लाते खुद को आज सुधारे कौन ?
पर उपदेश कुशल बहुतेरे खुद पर आज विचारे कौन ?
हम सुधरें तो जग सुधरेगा यह सीधी बात स्वीकारे कौन?
🙏🚩जय श्रीराम🚩🙏

हौसला और विश्वास

डाली से टूटा फूल फिर से नहीं लग सकता है मगर डाली मजबूत हो तो उस पर नया फूल खिल सकता है,

इसी तरह जिंदगी में खोये पल को वापिस ला नहीं सकते मगर हौंसले और विश्वास से आने वाले हर पल को खूबसूरत बना सकते हैं।

शुभ प्रभात ।।

ज़िन्दगी का हुनर

ज़िन्दगी का ये हुनर भी,
आज़माना चाहिए,
जंग अगर अपनों से हो,
तो हार जाना चाहिए..

*पसीना उम्र भर का उसकी गोद में सूख जाएगा…*

*हमसफ़र क्या चीज है ये बुढ़ापे में समझ आएगा..!!*

 

Quote of the day – 29 September 2019

“Tact is the art of making guests feel at home when that’s really where you wish they were.”

‐ George E Bergman

“व्यवहारकुशलता उस कला का नाम है जिसमें आप मेहमानों को घर जैसा आराम दें और मन ही मन मनाते भी जाएं कि वे अपनी तशरीफ उठा ले जाएं।”

‐ जॉर्ज ई बर्गमैन

Quote of the day – 28 September 2019

“Don’t believe that winning is really everything. It’s more important to stand for something. If you don’t stand for something, what do you win?””

‐ Lane Kirkland

“यह मत मानिए कि जीत ही सब कुछ है, अधिक महत्त्व इस बात का है कि आप किसी आदर्श के लिए संघर्षरत हों। यदि आप किसी आदर्श पर डट नहीं सकते तो आप जीतेंगे क्या?”

‐ लेन कर्कलैंड

Quote of the day – 25 September 2019

“Until you make peace with who you are, you’ll never be content with what you have.”

‐ Doris Mortman

“आप जब तक अपनी हैसियत से समझौता नहीं कर लेते, आपके पास जो कुछ है उससे आप संतुष्ट नहीं रह सकेंगे।”

‐ डोरिस मॉर्टमैन

Quote of the day – 22 August 2019

“आप किसी चीज़ का विशद ज्ञान हासिल करना चाहते हैं तो इसे दूसरों को सिखाने लगिए”

‐ ट्रायन एडवर्ड्स

“If you would thoroughly know anything, teach it to others.”

‐ Tryon Edwards

 

Quote of the day – 20 August 2019

Quote of the day – 20 August 2019

“Half the failures of this world arise from pulling in one’s horse as he is leaping.”

‐ Augustus Hare

“जीवन की आधी असफलताओं का कारण व्यक्ति का अपने घोड़े के छलांग लगाते समय उसकी लगाम खींच लेना होता है।”

‐ ऑगस्टस हरे

Half the failures of this world arise from pulling in one's horse as he is leaping.