वह मनहूस रात

खुशी से नम हो गई आंखें

बुरी करनी को मिला करारा जवाब,

खबर कुछ ऐसी आई आज सुबह

कि शिकारी खुद हो गए शिकार|

 

उस मनहूस रात के साए में

किया था जहां पाप तुमने,

देखो नियति के भी खेल निराले

उसी जगह देखा तुम्हारा अंत सबने|

 

लाओ कोई कानून ऐसा

करो कुछ ऐसा उपाय,

रूह कांप जाए उस दरिंदे की

जिसके मन में भी यह ख्याल आए|

 

कोशिश कर एक ऐसा समाज बनाएं

जिसमें कोई भी बेटी ना घबराए

दुआ है, जब भी सुबह अखबार खोलूं

कभी बलात्कार की खबर न आए

कभी बलात्कार की खबर न आए

 

~Copied

मेरे कदम बहक जाते हैं

जिस चमन से गुजर जाओ, हर कली पर निखार आ जाये,

तुम रूठों तो रूठ जाये खुदा, हंस दो तो बहार आ जाये |

 

तुम्हारी उड़ती हुई जुल्फों को देखकर दिल मचल जाता है,

जब तुम मेरे करीब होती हो तो कदम बहक जाता है |

2021 Sad Shayari

मेरा गम तेरी जज्बात से बेहतर होगा,

मेरा दिन तेरी हर रात से बेहतर होगा|

यकीन न आये तो डोली से झांककर देख लेना,

मेरा जनाजा भी तेरी बारात से बेहतर होगा|

 

कभी कभी दिल उदास होता है,

हल्का – सा आँखों में एहसास होता है,

छलकते हैं मेरी आँखों से आँसूं,

जब तुम्हारे दूर होने का एहसास होता है|

 

न तस्वीर है तुम्हारी जो दीदार किया जाये,

न तुम पास हो जो प्यार किया जाये,

यह कौन सा दर्द दिया है आपने,

न कुछ कहा जाये न तुम बिन रहा जाये|

 

तुम्हारी जुदाई सह न सकेंगे,

हाल – ए – दिल कह न सकेंगे,

जानते हैं की यह मिलन नहीं संभव,

लेकिन तेरे बिन रह न सकेंगे|

पलकों से अश्क मेरे रुकते नहीं हैं,

लोग मेरा गम समझते नहीं हैं|

 

उम्र भर साथ तुम्हारा भूल न पाएंगे,

प्यार करेंगे इतना की याद तुम्हें भी आयेंगे,

मरकर छोड़ देता है, जिस्म यह दुनिया,

हम वह आशिक हैं, जो मरकर भी साथ निभाएंगे|

 

चले भी आओ, हम तुम्हीं से प्यार करते हैं,

यह वह गुनाह हैं, जो हम बार बार करते हैं,

जलाकर इस दिल को मोहब्बत में,

तुम्हारे आने का इंतजार करते हैं|

हौसला और विश्वास

डाली से टूटा फूल फिर से नहीं लग सकता है मगर डाली मजबूत हो तो उस पर नया फूल खिल सकता है,

इसी तरह जिंदगी में खोये पल को वापिस ला नहीं सकते मगर हौंसले और विश्वास से आने वाले हर पल को खूबसूरत बना सकते हैं।

शुभ प्रभात ।।

उदासी भरे दिन

कहाँ तक ये मन को अँधेरे छलेंगे
उदासी भरे दिन, कभी तो ढलेंगे
कभी सुख, कभी दुःख, यही ज़िन्दगी है
ये पतझड़ का मौसम, घड़ी दो घड़ी है
नए फूल कल फिर डगर में खिलेंगे
उदासी भरे दिन…
भले तेज़ कितना हवा का हो झोंका
मगर अपने मन में तू रख ये भरोसा
जो बिछड़े सफ़र में तुझे फिर मिलेंगे…

Quote of the day – 26 May 2020

“The absence of alternatives clears the mind marvelously.”

‐ Henry A. Kissinger, Nobel Laureate and former American Foreign Minister

 

 

“विकल्पों का न होना बुद्धि को बढ़िया ढंग से परिमार्जित कर देता है।”

‐ हेनरी ए किसिंगर, नोबेल विजेता व भूतपूर्व अमरीकी विदेश मंत्री