अधूरा बचपन – *मेधा*

चिड़ियों सा चहकता हुआ करता था अपना आँगन
कितना खेली थी आपके साथ इस आँगन में पापा
अधूरा बचपन बीता आपके साथ इस आँगन में
वो खिलखिलाते दिन वो ठंडी रातें
दादी के साथ सवालों औऱ पहाड़ों में बीतती रातें
बहुत याद आती है आपकी जब जब भी जाती हूँ घर
दिल मे हूक सी उठाती हैं पापा आपकी यादें
वो दिन में सहेलियों संग वालिस्ता खेलना
गर्मी की छुट्टियों में बहनो संग महफ़िल जमाना
कितना सुहाना सा मंजर होता था उस आँगन में
मुझे याद है वो बिस्तर लगाना वहां
और भैया का वो डराना रातों में
कैसे दुबक जाती थी आके आपके बिस्तर में
क्यों चले गए यूँ छोड़ के बीच मे अपनी गुड्डा को
अब नही बैठती कोई भी चिड़िया उस आँगन में….

Buy product

 


Happy Holi 2023 : Best Holi Wishes Messages, Images

Happy Holi 2023 : Best Holi Wishes Messages, Images

Happy Holi 2023 Messages in Hindi

प्यार के रंग से भरो पिचकारी,
स्नेह के रंग से रंग दो दुनिया सारी,
ये रंग ना जाने कोई जात – पात ना कोई बोली,
आपको मुबारक हो अपनों की होली।

आपको और आपके परिवार को एक उज्ज्वल, रंगीन और हर्षित होली की शुभकामनाएं।
प्यार और शुभकामनाओं के साथ

होली – एक दूसरे को समझने और प्यार बढ़ाने का त्योहार है।
होली में आप सभी के लिए अपनी मित्रता को नवीनीकृत करने और अभिव्यक्त करने का एक सुनहरा मौका है|
प्रियजनों को एक सुंदर होली संदेश लिखकर हार्दिक प्यार।

Happy Holi 2023

Happy Holi 2023 संदेश हिंदी में

आपको और आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनाएं। हम इस प्रिज्मीय रंग की पूर्व संध्या पर आपके स्वास्थ्य, समृद्धि और व्यावसायिक उपलब्धियों की कामना करते हैं।

‘चमकदार रंग, पानी के गुब्बारे, भव्य गुजिया और मधुर गीत’ संपूर्ण होली की सामग्री हैं। आपको एक बहुत खुश और अद्भुत होली की शुभकामनाएं।

Happy Holi 2023

Happy Holi 2023

Happy Holi 2023

 

Holi Best Offers

Amazon : Ethenic Week

 


समस्या के कारण जानने से मिलता है समाधान : महात्मा बुद्ध

समस्या के कारण जानने से मिलता है समाधान : महात्मा बुद्ध

एक दिन महात्मा बुद्ध जब प्रवचन हेतु पहुंचे तो उनके हाथ में एक रुमाल था| आसन पर बैठने के बाद उन्होंने रुमाल में थोड़ी-थोड़ी जगह छोड़कर पाँच गांठें लगा दी|
फिर बुद्ध ने शिष्यों से पूछा, ‘क्या यह वही रुमाल है जो गांठें लगने के समय के पहले था?’
एक विद्वान शिष्य ने कहा, ‘रुमाल तो वही है, क्योंकि इसमें कोई परिवर्तन नहीं हुआ है| दूसरी दृष्टि से देखें तो पहले इसमें पांच गांठें नहीं लगी थी, अतः रुमाल पहले जैसा नहीं रहा| जहां तक इसकी मूल प्रकृति का प्रश्न है, वह नहीं बदला है| इसका केवल बाहरी रूप बदला है, इसका पदार्थ और इसकी मात्रा वही है|’ (more…)


विद्वत्ता पर कभी घमण्ड न करें

विद्वत्ता पर कभी घमण्ड न करें

कालिदास :- माते पानी पिला दीजिए बड़ा पुण्य होगा.
स्त्री बोली :- बेटा मैं तुम्हें जानती नहीं। अपना परिचय दो। मैं अवश्य पानी पिला दूंगी।
कालिदास ने कहा :- मैं पथिक हूँ, कृपया पानी पिला दें।
स्त्री बोली :- तुम पथिक कैसे हो सकते हो, पथिक तो केवल दो ही हैं सूर्य व चन्द्रमा, जो कभी रुकते नहीं हमेशा चलते रहते। तुम इनमें से कौन हो सत्य बताओ।
कालिदास ने कहा :- मैं मेहमान हूँ, कृपया पानी पिला दें।
स्त्री बोली :- तुम मेहमान कैसे हो सकते हो ? संसार में दो ही मेहमान हैं।
पहला धन और दूसरा यौवन। इन्हें जाने में समय नहीं लगता। सत्य बताओ कौन हो तुम ? (more…)


Illiterate Mother – अनपढ़ माँ

Illiterate Mother – अनपढ़ माँ
एक मध्यम वर्गीय परिवार के एक लड़के ने 10वीं की परीक्षा मे 90% अंक प्राप्त किए।
पिता ने मार्कशीट देखकर खुशी-खुशी अपनी बीवी से कहा कि, बना लीजिये मीठा दलिया! स्कूल की परीक्षा मे आपके लाडले को 90% अंक मिले हैं।
माँ किचन से दौड़ती हुई आई और खुशी-खुशी बोली – मुझे भी दिखाइए! मुझे भी मेरे लाल का रिजल्ट देखना है जी।
इसी बीच लड़का फटाक से बोला – बाबा! उसे रिजल्ट कहाँ दिखा रहे है, क्या वह पढ़-लिख सकती है? वो तो अनपढ़ है।
अश्रुपूर्ण भरी आँखों को पल्लू से पोंछती हुई माँ दलिया बनाने चली गई।

(more…)



होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

Holi Messages 2023: Best Wishes for Holi, Holi Ki Hardik Badhai

इस साल होली का त्योहार 8 मार्च को है। हिंदू पंचांग के अनुसार, फाल्गुन महीने की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन के अगले दिन होली खेलते हैं। इस दिन लोग एक-दूसरे को अबीर-गुलाल लगाकर होली की बधाई देते हैं। इस दिन को देश कुछ हिस्सों में धुलेंदी, धुरखेल, धूलिवंदन और चैत बदी आदि नामों से जाना जाता है। मान्यता है कि प्राचीन समय में इस दिन लोग एक-दूसरे को धूल या मुल्तानी मिट्टी लगाते थे, इसलिए इसे धुलेंदी कहा जाता है। इस दिन लोग रंग से होली खेलने के साथ ही अपनों को मैसेज या इमेज भेजकर भी होली की बधाई देते हैं। आप भी अपने चाहने वालों को बेस्ट शुभकामना संदेश से दे सकते हैं होली की बधाई-

फाल्गुन का महीना वो मस्ती के गीत, रंगों का मेला वो नटखट से खेल, दिल से निकलती है ये प्यारी सी बोली, मुबारक हो आपको ये रंगों भरी होली

The month of Falgun is the song of fun, the fair of colors, that play with naughty, this lovely quote comes out of the heart, Happy Holi to you full of colors

पिचकारी की धार
गुलाल की बौछार
अपनों का प्यार
यही है होली का त्यौहार

pitcher’s edge
gulal shower
love of loved ones
This is the festival of Holi

होली का रंग तो कुछ पलों में धूल जाएगा, दोस्ती और प्यार का रंग नहीं धुल पाएगा, यही तो असली रंग है ज़िंदगी का जितना रंगोगे, उतना ही गहरा होता जाएगा। हैप्पी होली

The color of Holi will be dusted in a few moments, the color of friendship and love will not be washed away, this is the real color of life, the more colors you paint, the darker it will become. Happy Holi

ये रंगों का त्योहार आया है
साथ अपने खुशियां लाया है
हमसे पहले कोई रंग न दे आपको
इसलिए हमने शुभकामनाओं का रंग
सबसे पहले भिजवाया है, हैप्पी होली

It’s the festival of colors
brought my happiness
Don’t give us any color before you
That’s why we color of wishes
First sent, Happy Holi

holi messages,holi message in hindi, holi wishes holi messages,holi message in hindi, holi wishes, holi ki hardik badhai

holi messages,holi message in hindi, holi wishes

आप सभी को होली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ

खुशियों से हो ना कोई दुरी, रहे न कोई ख्वाहिश अधूरी, रंगों से भरे इस मौसम में रंगीन हो आपकी दुनिया पूरी|

राधा का रंग और कान्हा की पिचकारी, प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी, यह रंग ना जाने कोई जात ना कोई बोली, मुबारक हो आपको रंगों भरी होली

रंग के त्यौहार में सभी रंगों की हो भरमार, ढेर सारी खुशियों से भरा हो आपका संसार, यही दुआ है हमारी भगवान से हर बार।

गुल ने गुलशन से गुलफान भेजा है, सितारों ने आसमान से सलाम भेजा है, मुबारक हो आप को होली का त्यौहार, हमने दिल से ये पैगाम भेजा है

रंगों का त्योहार है होली
थोड़ी ख़ुशी मना लेना
हम थोडा दूर हैं आपसे
जरा गुलाल हमारी तरफ से भी लगा लेना

Holi is the festival of colors
rejoice a little
we are far away from you
Put some gulal on our side too

यह जो रंगों का त्योहार है
इस दिन ना हुए लाल पीले तो जिंदगी बेकार है
रंग लगाना तो इतना पक्का लगाना
जितना पक्का तू मेरा यार है

it is the festival of colors
If this day is not red and yellow then life is useless
so sure to paint
as sure you are my friend

holi messages,holi message in hindi, holi wishes holi messages,holi message in hindi, holi wishes, holi ki hardik badhai

एक दूसरे को जम के रंग लगाओ
नाचो गाओ, ठुमके लगाओ
हंसो और हंसाओ, ख़ुशी मनाओ
मिठाई खाओ और खिलाओ

paint each other
dance, sing
laugh and laugh, rejoice
eat and eat sweets

holi messages,holi message in hindi, holi wishes, holi ki hardik badhai holi messages,holi message in hindi, holi wishes holi messages,holi message in hindi, holi wishes

Holi Ki Hardik Badhai

May there be no distance from happiness, nor any wish unfulfilled, May your world be full of colors in this season full of colors.

Radha’s color and Kanha’s pitch, paint the whole world with the color of love, no one knows this color, no caste, no one speaks, Happy Holi full of colors to you

May the festival of colors be full of all colors, may your world be filled with lots of happiness, this is our prayer to God every time.

Gul has sent Gulshan from Gulshan, the stars have sent a salute from the sky, Happy Holi festival to you, we have sent this message from the heart

Wishing you all a very Happy Holi

holi messages,holi message in hindi, holi wishes

holi messages,holi message in hindi, holi wishes

holi messages,holi message in hindi, holi wishes, holi ki hardik badhai

holi messages,holi message in hindi, holi wishes

holi messages,holi message in hindi, holi wishes, holi ki hardik badhai

This year the festival of Holi is on 8th March. According to the Hindu calendar, Holi is played on the full moon day of the month of Falgun, the day after Holika Dahan. On this day people greet each other on Holi by applying Abir-Gulal. This day is known by the names of Dhulendi, Dhurkhel, Dhulivandan and Chait Badi in some parts of the country. It is believed that in ancient times people used to apply dust or multani mitti to each other on this day, hence it is called Dhulendi. On this day, along with playing Holi with colours, people also congratulate Holi by sending messages or images to their loved ones. You can also wish your loved ones Happy Holi with the best wishes.

Holi Sale

bruchi club - holi sale, holi ki hardik badhai

 


भारत की महान नारियाँ – भाग 4

डॉ. ऐनी बेसेंट

‘भारत की संताने ही यदि हिन्दुत्व की रक्षा नहीं करेंगी, तो कौन आयेगा उसे बचाने ? हिन्दुत्व के बिना भारत क्या है एक निष्प्राण शरीर! भारत को बचाने के लिये हिन्दुत्व को बचाया जाना जरुरी है। अच्छी तरह समझ लीजिये, भारत और हिन्दुत्व एक ही हैं। बिना हिन्दुत्व के भारत का कोई भविष्य नहीं है। स्वाधीनता आंदोलन के दिनों में यह चिंतन भारत तथा विश्व के सामने रखने वाली महान् विचारिका तथा स्वतंत्रता सेनानी श्रीमती ऐनी बेसेन्ट थीं।

ऐनी बेसेंट का जन्म 1 अक्टूबर 1847 को लंदन में हुआ ऐनी बेसेंट जर्मन, फ्रेंच, अंग्रेजी, हिन्दी और संस्कृत- इतनी सारी भाषाओं की ज्ञाता एक आयरिश महिला थी जो शिकागों में स्वामी विवेकानन्द से मिलकर इतनी प्रभावित हुई कि भारत आयी और यहीं अपना सारा जीवन समर्पित कर दिया। उन्होंने गीता का अंग्रेजी में अनुवाद किया वे अपने भाषणों में संस्कृत श्लोकों का धाराप्रवाह पाठ करती थी। वे भारतीय जीवन दर्शन से एकाकार हो गई थी।

भारतीय जीवन दर्शन के प्रति आकर्षण के फलस्वरूप सन् 1894 में उनका भारत आगमन हुआ। भारत आने के उपरान्त 1906 ई. तक का अधिकांश समय बनारस में बीता और भारतीयों को अपनी महान् विरासत के प्रति सचेत करने के लिये उन्होंने 1898 ई. में बनारस में सेंट्रल हिन्दू कॉलेज की स्थापना की। सन् 1916 में पं. मदनमोहन मालवीय ने इसी कॉलेज को हिन्दू विश्वविद्यालय का नाम और स्वरूप दिया। डॉ. एनी बेसेंट के जीवन का मूल मंत्र था- कर्म। उन्होंने समाज के सर्वांगीण विकास के लिये नारी के अधिकारों को महत्वपूर्ण बताया। (more…)


भारत की महान नारियाँ – भाग 3

रानी दुर्गावती

दुर्गावती का जन्म लगभग चार सौ वर्ष पूर्व कालिंगर के राजा कीर्तिराय की एकमात्र सन्तान के तौर पर हुआ। बाल्यकाल से ही दुर्गावती पुरुषों से भी बढ़चढ़ कर कुशलता और प्रवीणता से शस्त्र संचालन और घुड़सवारी करती थी। गढ़ मण्डला के राजा दलपति शाह ने जब एक बार दुर्गावती को अभ्यास करते हुए देखा तो प्रभावित होकर तुरन्त ही उस वीरांगना को अपनी अर्धागिनी बनाने का निश्चय कर लिया। दलपतशह से विवाह कर दुर्गावती गढ़ मण्डला की राजरानी बनी।

वर्ष भर बाद ही उन्हें पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई राजा और राज्य दोनों ही खुशी झूम उठे। रानी पारिवारिक जीवन का एक वर्ष का ही सुख प्राप्त कर पाई थी से कि वज्रपात हुआ। राजा दलपत शाह की मृत्यु हो गई। राजपरिवार के लोग राजा की चिता सजाने के साथ-साथ रानी को भी उनके साथ जलाने का प्रबन्ध करने लगे। परन्तु रानी ने इसका पुरजोर विरोध करते हुए कहा- “मुझे तो पति के साथ आग में जल जाना उनके सौंपे उत्तरदायित्वों से भागने जैसा ही लगता है। मैं एक ही मार्ग देखती हूँ उनके पदचिह्नों पर चलते हुए उत्तरदायित्वों को निभाने का।”

इसके बाद रानी ने अपना अगला कदम अपनी सम्पूर्ण प्रतिभा एवं दक्षता के साथ शासन व्यवस्था की सूत्रधार के रूप में उठाया। अब हर किसी को सुविधापूर्वक रानी से मिलने और अपने दुख-दर्द समस्याएँ कहने का मौका मिलने लगा। इस कारण जनता रानी को अपने प्राणों से भी अधिक चाहने लगी। (more…)


भारत की महान नारियाँ – भाग 2

विदुषी उभय भारती

मिथिला क्षेत्र अपने सांस्कृतिक ज्ञान के विभिन्न रूपों के लिये प्राचीन काल से ही प्रसिद्ध था। मिथिला में एक से एक पंडित दूर-दूर से आते थे। वहाँ कई कई दिन तक चलने वाले शास्त्रार्थ में जीवन जगत से सम्बन्धित विषय पर वाद विवाद होता था। विजयी पंडितों को विशेष सम्मान मिलता था। कहा जाता है कि आदि शंकराचार्य मिथिला के महापंडित मंडन मिश्र के ज्ञान की ख्याति सुनकर उनके गाँव जा पहुँचे। वहाँ कुएं पर पानी भर रही महिलाएं संस्कृत में वार्तालाप कर रही थी, आचार्य शंकर के शिष्य ने उनसे पूछा- ‘मंडन मिश्र का घर कहाँ है?’ एक स्त्री ने बताया जिस दरवाजे पर तोते शास्त्रार्थ कर रहे हों, वही मंडन मिश्र का घर होगा।’ एक द्वार पर सचमुच तोते शास्त्रार्थ कर थे। वहीं मंडन मिश्र का घर था। शंकराचार्य ने शिष्यों सहित पं. मंडन मिश्र के घर प्रवेश किया। मंडन और उनकी पत्नी उभय भारती ने उनका स्वागत-सत्कार किया। आस पड़ोस के पंडित भी आ पहुँचे। शंकराचार्य ने मंडन मिश्र से कहा कि वे विषाद रूप भिक्षा लेने के लिये उनके पास आए हैं। मण्डन मिश्र ने स्वीकार किया और दोनों के बीच शास्त्रार्थ के लिये समय निर्धारित किया गया।

(more…)