तब पता लगेगा कि क्या होती है तन्हाई

जुदा हो के देखो कि क्या होती है जुदाई,

प्यार करके देखो कि क्या होती है बेवफाई,

कभी अकेले होकर महसूस कीजिये ए चाँद,

तब पता लगेगा कि क्या होती है तन्हाई |

Sad Shayari

वह दिन, दिन नहीं, वह रात, रात नहीं,

वह पल, पल नहीं, जिसमें आपकी याद नहीं,

हमें कोई आपसे जुदा कर सके,

मौत की भी इतनी औकात नहीं|

 

फूल सूख जाते हैं, एक वक्त के बाद,

लोग बदल जाते हैं, एक वक्त के बाद,

अपनी भी दोस्ती टूटेगी, एक वक्त के बाद,

पर वो वक्त होगा, मेरी मौत के बाद |

 

तुम्हारी जुल्फों के साये में ना जाने कब शाम हो गयी,

तुमसे जो जुदा हुए तो ये शाम वीरान हो गयी |

 

अपनी बेबसी पे हम ढेरों आँसूं बहाते हैं,

तेरे साथ गुजारे लम्हें जब याद आते हैं |

 

जब याद तुम्हारी आती है, तब दर्द जिगर में होता है,

जब सारी दुनिया सोती है, तब हर रोज रात को रोता हूँ |

मैं दीवाना तो नहीं…

मैं एक दीवाना तो नहीं, तेरी इन आँखों ने दीवाना बना दिया,

मैं जीता तो नहीं, तेरी इन सांसों ने जीना सिखा दिया|

गम तो इसका भी नहीं कि तू मेरी हो न सकी,

गम तो इस बात का है कि तूने मोहब्बत से भरोसा ही उठा दिया|

Myntra winter sale 2020

Flat 80 percent off Sale on Myntra

 

2021 Sad Shayari

मेरा गम तेरी जज्बात से बेहतर होगा,

मेरा दिन तेरी हर रात से बेहतर होगा|

यकीन न आये तो डोली से झांककर देख लेना,

मेरा जनाजा भी तेरी बारात से बेहतर होगा|

 

कभी कभी दिल उदास होता है,

हल्का – सा आँखों में एहसास होता है,

छलकते हैं मेरी आँखों से आँसूं,

जब तुम्हारे दूर होने का एहसास होता है|

 

न तस्वीर है तुम्हारी जो दीदार किया जाये,

न तुम पास हो जो प्यार किया जाये,

यह कौन सा दर्द दिया है आपने,

न कुछ कहा जाये न तुम बिन रहा जाये|

 

तुम्हारी जुदाई सह न सकेंगे,

हाल – ए – दिल कह न सकेंगे,

जानते हैं की यह मिलन नहीं संभव,

लेकिन तेरे बिन रह न सकेंगे|

पलकों से अश्क मेरे रुकते नहीं हैं,

लोग मेरा गम समझते नहीं हैं|

 

उम्र भर साथ तुम्हारा भूल न पाएंगे,

प्यार करेंगे इतना की याद तुम्हें भी आयेंगे,

मरकर छोड़ देता है, जिस्म यह दुनिया,

हम वह आशिक हैं, जो मरकर भी साथ निभाएंगे|

 

चले भी आओ, हम तुम्हीं से प्यार करते हैं,

यह वह गुनाह हैं, जो हम बार बार करते हैं,

जलाकर इस दिल को मोहब्बत में,

तुम्हारे आने का इंतजार करते हैं|

उदासी भरे दिन

कहाँ तक ये मन को अँधेरे छलेंगे
उदासी भरे दिन, कभी तो ढलेंगे
कभी सुख, कभी दुःख, यही ज़िन्दगी है
ये पतझड़ का मौसम, घड़ी दो घड़ी है
नए फूल कल फिर डगर में खिलेंगे
उदासी भरे दिन…
भले तेज़ कितना हवा का हो झोंका
मगर अपने मन में तू रख ये भरोसा
जो बिछड़े सफ़र में तुझे फिर मिलेंगे…

बस इतनी सी मेरी ख्वाहिश

ना चाँद की चाहत
ना तारों की फरमाइश
तू मिले हर जन्म
बस इतनी सी मेरी ख़्वाहिश ।

 

एक गुलाब मैंने भी अपने सीने में छुपा रखा है,

मेरी यादों को, मेरे सपनों को जिसने महका रखा है।

 

🌹 कोई कहता है प्यार  नशा बन जाता है! 🌹
🌹 कोई कहता है प्यार  सज़ा बन जाता है! 🌹
🌹 पर प्यार करो अगर_सच्चे ♥️ दिल से,🌹
🌹 तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है..!”🌹

 

आँखों के रास्ते मेरे दिल में उतर गये…!!!

बंदा-नवाज़ आप तो हद से गुज़र गये…!!!

 

तेरे इस रंग रुप को देखकर हर आशिक का दिल आहें भरता रहता होगा,
और जिस घाट का भी तुम पानी पीती होगी, जरुर वहां रोज लाखों गुलाब खिलता होगा ।

Tere bin main ho gaya paagal

Tere bin main ho gaya paagal
Tere bin main ho gaya paagal
Dasne lagi mujhko tanhaiya
Dasne lagi mujhko tanhaiya
Suna lage har pal

Tere bin main ho gaya paagal
Ho tere bin main ho gaya paagal
Zindagi ke har ek mod par
Tum khade the bahe kholkar

Aaa zindagi ke har ek mod par
Tum khade the bahe kholkar
Ab kya karu main to har pal maru
Ab kya karu main to har pal maru
Yaadein hui maqtal

Tere bin main ho gaya paagal
Ho tere bin main ho gaya paagal
Kiski nazrein tumko kha gayi
Badliya gham ki ab chha gayi

Ho kiski nazrein tumko kha gayi
Badliya gham ki ab chha gayi
Ek pal hi mein meri duniya luti
Ek pal hi mein meri duniya luti
Aisi hui halchal

Tere bin main ho gaya paagal
Ho tere bin main ho gaya paagal
Dasne lagi mujhko tanhaiya
Dasne lagi mujhko tanhaiya
Suna lage har pal
Tere bin main ho gaya paagal
Ho tere bin main ho gaya paagal.

तेरे बिन मैं हो गया पागल

तेरे बिन मैं हो गया पागल
तेरे बिन मैं हो गया पागल
डसने लगी मुझको तन्हाईयाँ
डसने लगी मुझको तन्हाईयाँ
सुना लगे हर पल

तेरे बिन मैं हो गया पागल
हो तेरे बिन मैं हो गया पागल
ज़िंदगी के हर एक मोड़ पर
तुम खड़े थे बाहें खोलकर

ज़िंदगी के हर एक मोड़ पर
तुम खड़े थे बाहें खोलकर
अब क्या करू मैं तो हर पल मरू
अब क्या करू मैं तो हर पल मरू
यादें हुई मातल

तेरे बिन मैं हो गया पागल
हो तेरे बिन मैं हो गया पागल
किसकी नज़रें तुमको खा गयी
बदलियाँ गम की अब छा गयी

हो किसकी नज़रें तुमको खा गयी
बदलियाँ गम की अब छा गयी
एक पल ही में मेरी दुनिया लूटी
एक पल ही में मेरी दुनिया लूटी
ऐसी हुई हलचल

तेरे बिन मैं हो गया पागल
हो तेरे बिन मैं हो गया पागल
डसने लगी मुझको तन्हाईयाँ
डसने लगी मुझको तन्हाईयाँ
सुना लगे हर पल
तेरे बिन मैं हो गया पागल
हो तेरे बिन मैं हो गया पागल