ना चाँद की चाहत
ना तारों की फरमाइश
तू मिले हर जन्म
बस इतनी सी मेरी ख्वाहिश ।

 

एक गुलाब मैंने भी अपने सीने में छुपा रखा है,

मेरी यादों को, मेरे सपनों को जिसने महका रखा है।

 

🌹#कोईकहता है #प्यारनशा बन #जाता है! 🌹
🌹#कोईकहता है #प्यारसज़ा बन जाता है! 🌹
🌹पर #प्यार करो #अगर_सच्चे ♥️ #दिल से,🌹
🌹तो वो #प्यार ही #जीने की #वजह बन #जाता है..!”🌹

 

आँखों के रास्ते मेरे दिल में उतर गये…!!!

बंदा-नवाज़ आप तो हद से गुज़र गये…!!!

 

तेरे इस रंग रुप को देखकर हर आशिक का दिल आहें भरता रहता होगा,
और जिस घाट का भी तुम पानी पीती होगी, जरुर वहां रोज लाखों गुलाब खिलता होगा ।