कितना और बदलूँ खुद को जीने के लिए…
ऐ जिंदगीं, थोड़ा सा तो मुझको मुझमें रहने दो!!!