BestSellers

कल तक मैं जिसकी करता था सजदा,

वो तो दे गयी मुझको सजा,

बस मेरी थी इतनी सी खता,

था मैं उनकी हर अदा पर फ़िदा|