न कफ़न में जेब है, ना कब्र में अलमारी

मिला है जीवन किसी के काम आने के लिए…
पर समय तो बीत रहा है कागज के टुकड़े कमाने के लिए…

क्या करोगे इतना रुपये पैसे कमा कर??
न कफ़न में जेब है, ना कब्र में अलमारी |

ज़च्चा की परेशानी

अभी होश में आई है ज़च्चा…

प्रसव कक्ष से निकले हुए एक घंटे के बाद होश आया…

बच्चे को जन्म दिए अभी एक घंटे से ज्यादा वक़्त नहीं हुआ…

शरीर में शक्ति नहीं है…

करवट लेना तो दूर की बात, हिलना भी मुश्किल हो रहा है…

बिस्तर पर पड़े पड़े दाहिने हाथ से बगल में टटोला…

हाथ में कुछ नहीं लगा…

बाए हाथ से भी कोशिश किया, फिर भी हाथ में कुछ नहीं लगा…

विचार आया कि कहीं नीचे लुढ़क के गिर तो नहीं गया…?

हिम्मत जुटाते हुए  पलंग के नीचे देखा…

नीचे कुछ नहीं था…

मन में घबराहट होने लगी…

थोड़ी और हिम्मत कर के दूर दिख रही नर्स को इशारे से  बुलाया…

नर्स ने जच्चा की घबराहट देख कर इनक्यूबेटर रूम से दौड़ कर बच्चा ला कर माँ के हाथ में थमाते हुए कहा.. मैं समझ सकती हूँ बहन, लो जी भर कर देख लो..

जच्चा माथा पीटते हुए बोली... मैं मोबाइल फ़ोन कहाँ हैं पूछ रही थी…

😜😜😜😊😊😊😜

हर हर महादेव

!!!!!!ॐ नमः शिवायः !!!!!!
शिव जी के पवित्र श्रावण महीने के आगमन की आपको और आपके पूरे परिवार को मेरी और से हार्दिक शुभकामनाये।
भगवान् भोले नाथ आपकी जिंदगी खुशियों से भर दें।

हर हर महादेव।।

Kitab-E-Dil Ka Koi Bhi Waraq Saada Nahi Hota

Kitab-E-Dil Ka Koi Bhi Waraq Saada Nahi Hota,
Nigah Usko Bhi Padh Leti Hai Jo Likha Nahi Hota,

Use Main Dekhti Rehti Hoon Yaadon Ke Chanaron Se,
Nigahon Ki Tapish Se Wo Kabhi Shola Nahi Hota,

Hawa Ko Chhuna Chahti Hoon Ke Ye Usko Bhi Chhuti Hai,
Magar Mera Junoon Mujhse Kabhi Pura Nahi Hota,

Sunana Chahti Hoon Haal-E-Dil Jis Ek Jumle Mein,
Bikhar Jata Hai Wo Jumla Kabhi Yakjaa Nahi Hota,

Tapish Is Dilki Aa Pahuchi Meri Namnaak Aankhon Tak,
Kaash Jo Jal Gaya Kandha Wohi Tera Nahi Hota,

Mujhe Is Haal Tak Pahucha Diya Teri Mohabbat Ne,
Sitam Kaisa Bhi Ho Tujhse Koi Shikwa Nahi Hota…