कपालभाती प्राणायाम(Kapalbhati Pranayama)

कपालभाती प्राणायाम(Kapalbhati Pranayama)

विधि :-  सिद्धासन, पद्मासन या वज्रासन में बैठकर साँसों को बाहर छोड़ने की क्रिया करें। साँसों को बाहर छोड़ने या फेंकते समय पेट को अंदर की ओर धक्का देना है। ध्यान रखें कि श्वास लेना नहीं है क्योंकि उक्त क्रिया में श्वास स्वत: ही अंदर चली जाती है।

लाभ : –  यह प्राणायाम आपके चेहरे की झुर्रियाँ और आँखों के नीचे का कालापन हटाकर चेहरे की चमक बढ़ाता है। 

      • दाँतों और बालों के सभी प्रकार के रोग दूर हो जाते हैं। 
      • शरीर की चरबी कम होती है। कब्ज, गैस, एसिडिटी की समस्या में लाभदायक है।
      • शरीर और मन के सभी प्रकार के नकारात्मक तत्व और विचार मिट जाते हैं।
      • थायराइड को कम करता है।
      • पेट का मोटापा कम करता है।
      • कब्ज खत्म करने में मदद करता है। । पाचन तंत्र को बढ़ाता है।
      • स्किन एलर्जी और संक्रमण का इलाज करता है।

कपालभाती प्राणायाम(Kapalbhati Pranayama)

बादाम तेल के फायदे

बादाम तेल के फायदे

बादाम तेल से कब्ज दूर होती है और यह शरीर को ताकतवर बनाता है| 

बादाम तेल के नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है। यानी यह दिल की सेहत के लिए भी अच्छा है।बादाम मस्तिष्क और स्नायु प्रणालियों के लिए पोषक तत्व है। यह बौद्धिक ऊर्जा बढ़ाने वाला, दीर्घायु बनाने वाला है।

मीठे बादाम तेल के सेवन से माँसपेशियों में दर्द जैसी तकलीफ से तत्काल आराम मिलता है।

बादाम तेल का प्रयोग रंगत में निखार लाता है और बेजान त्वचा को रौनक प्रदान करता है। त्वचा की खोई नमी लौटाने में भी बादाम तेल सर्वोत्तम माना गया है।

शुद्ध बादाम तेल तनाव को दूर करता है। दृष्टि पैनी करता है और स्नायु के दर्द में भी राहत दिलाता है।

विटामिन डी से भरपूर बादाम तेल बच्चों की हड्डियों के विकास में भी योगदान करता है।

बादाम तेल से रूसी दूर होती है और बालों की साज-सँभाल में भी यह कारगर है। इसमें मौजूद विटामिन तथा खनिज पदार्थ बालों को चमकदार और सेहतमंद बनाते हैं।

बादाम तेल का इस्तेमाल बाहर से किया जाए या फिर इसका सेवन किया जाए, यह हर लिहाज से उपचारी और उपयोगी साबित होता है।

हर रोज रात को 250 मिग्रा गुनगुने दूध में 5-10 मिली बादाम तेल मिलाकर सेवन करना लाभदायक होता है।

त्वचा को नरम, मुलायम बनाने के लिए भी आप इसे लगा सकते हैं।

 

बादाम तेल के फायदे by Dr. Hemnag Rai

बादाम तेल के फायदे by Dr. Hemnag Rai

Sankalpa Siddhi Chikitsalaya